Sukanya Samriddhi Yojana: बेटियो के उज्ज्वल भविष्य के लिए बेहतरीन निवेश !

Spread the love

Sukanya Samriddhi Yojana : सुकन्या समृद्धि योजना केंद्र सरकार की एक योजना है, जिसे विशेषतौर पर बालिकाओं के लिए लॉन्च किया गया है। इस योजना का उद्देश्य शादी और शिक्षा जैसे बड़े ईवेंट के लिए बच्चियों के लिए धन एकत्रित करने में माता-पिता और अभिभावकों की मदद करना है। इय योजना को केंद्र सरकार की ओर से 2 दिसंबर,2014 को शुरु किया गया था। Delhi-NCR में जिला नगर योजनाकार का चला बुलडोज़र, मची अफरा तफरी

कितना मिलता है ब्याज?
सुकन्या समृद्धि योजना पर अक्टूबर- दिसंबर के लिए सरकार की ओर से 7.6 प्रतिशत का ब्याज दिया जा रहा है। इस योजना में ब्याज हर महीने की पांचवें दिन की समाप्ति और महीने के अंतिम तारीख के बीच के न्यूनतम बैलेंस पर दिया जाता है। हर वित्त वर्ष के अंत में ब्याज खाते में क्रेडिट कर दी जाती है।

कब और कैसे निकाल सकते हैं पैसा?

जब बालिका की आयु 18 वर्ष पूरी हो जाती है और 10वीं पास कर ली होती है तो ही पैसा निकाल सकते हैं। पिछले वित्त वर्ष की शेष राशि का 50 प्रतिशत हिस्सा निकाला जा सकता है। निकासी वर्ष में एक बार या फिर किस्तों में की जा सकती है। हालांकि, इसके साथ काफी सारे नियम व शर्तें जुड़ी हुई हैं।
SUKANYA

मैच्योरिटी से पहले SSY से पैसे कैसे निकालें?
अगर खाताधारक मैच्योरिटी से पहले मृत्यु हो जाती है तो एसएसवाई खाता तत्काल बंद हो जाता और बाकी बचे हुए बैलेंस को ब्याज के साथ अकाउंट होल्डर के माता-पिता या अभिभावक को सौंप दिया जाता है। बता दें,सुकन्या समृद्धि खाताधारक की मौत के बाद ये लेकर खाता बंद होने तक ब्याज पोस्ट ऑफिस में सेविंग अकाउंट पर मिल रही ब्याज दर के मुताबिक होती है।

कब बंद होता है सुकन्या समृद्धि अकाउंट?
जब बालिका की आयु 18 वर्ष से अधिक या शादी हो जाती है या खाता खुले 21 वर्ष से अधिक का समय हो जाता है तो सुकन्य समृ्द्धि खाता बंद हो जाता है।हरियाणा मेंं हिसार, पलवल, महेंद्रगढ सहित 8 जिलों की सडके होगी चकाचक, जानिए कितना बजट हुआ मंजूर

Sukanya Samriddhi Yojana के लिए पात्रता
सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट केवल बालिका के नाम पर माता-पिता या कानूनी अभिभावकों द्वारा ही खोला जा सकता है।
अकाउंट खोलने के समय बालिका की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए।
सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक परिवार को केवल दो अकाउंट खोलने की अनुमति होगी।
एक बालिका के एक से अधिक सुकन्या समृद्धि अकाउंट नहीं खोले जा सकते हैं।
केवल दो बालिकाओं के पहले बेटी होने के बाद दूसरी बार जुड़वा बेटियां होने की की स्थिति में तीन बेटियों का खाता खुलवाया जा सकता है।

आवश्यक दस्तावेज
बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
निवास प्रमाण पत्र
माता-पिता का पैन कार्ड, आधार कार्ड
मोबाइल नंबर

!-- Composite Start -->