Rajasthan Cow Slaughter News: खुले में चल रहा था गोमांस का कारोबार, किशनगढ़ बास का एसएचओ सहित पूरा थाना सस्पेंड

Rajasthan Cow Slaughter News: अलवर केकिशनगढ बास थाने के आस पास खुले में गोमांस का कारोबार चल रहा था। हरियाणा के क्षेत्रों में गोवंश की होम डिलीवरी करने व गोतस्करी को संरक्षण देने के आरोप में किशनगढ़ बास थाना के एसएचओ दिनेश मीणा सहित पूरे 40 कर्मचारियों के स्टाफ को निलंबित (40 police suspended in rajasthan) कर दिया है।

Rewari News: पटवारियों के बाद अब नंबरदार उतरेंगे सडकों पर, दी चेतावनी

ALWAR KISHANGARH BASS

मची अफरा तफरी

जैसे ही पुलिस को चला कि इस इलाके से गौमास हरियाणा में भेजा जा रहा है।राजस्थान पुलिस ने अलवर में जंगलों में पहाड़ी क्षेत्र के बीच बसे क्षेत्रों में छापामारी कर बड़े पैमाने पर गोमांस तस्करी के अड्डों को पकड़ा है। यह कार्रवाई किशनगढ़ बास क्षेत्र के रूंध गिदावड़ा क्षेत्र में की गई है।

 

दिखने लगा असर

भाजपा का चुनावी मुददा था राजस्थान में गोतस्करो को किसी भी कीमत नही बख्या जाएगा। इसी तर्ज पर टीम ने कई जगह छापेमारी करते हुए गौमाश हरियाणा भेजने वालो को शरण देने वाले पूर थाने को सबक दिखाया है।

विश्व हिंदु परिषद ने की थी शिकायत

किशनगढ़बास थाना अंतर्गत रूंध और गिदावाड़ा के जंगलों में पिछले कई सालों से यह गोकशी की शिकायत मिल रही है। यहां मंडी रोजाना 12 से 3 बजे तक लगती है , इसमें कई युवा भी शामिल हैं। जो बिना नम्बर की चोरी की मोटरसाइकिल पर आसपास के 50 गांवों तक होम डिलीवरी देते हैं।

Digambar Jainacharya Vidyasagar Maharaj को विनयांजलि अर्पित

विश्व हिंदु परिषद सहित अन्य संगठनों ने पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी जिसके बाद पूरा थाना निलंबत कर दिया है। वहीं जयपुर आइजी ने पूरे की जांच कोटपूतली बहरोड एसपी नमीचंद को सौपी है।

जयपुर आइजी रेंज उमेश चंद्र दत्ता और खैरतल-तिजारा एसपी सुरेंद्र सिंह आर्य भी मौके पर पहुंचे और गाेवंश के अवशेष देखकर दंग रह गए।

25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में गोवंश का वध कर नूंह और आसपास के क्षेत्रों में गोवंश की होम डिलीवरी तक की जाती थी। पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ गोकशी का मामला भी दर्ज किया है। पुलिस ने होम डिलीवरी करने वाली 12 से अधिक बाइक और गोवंश को पकड़कर लाने वाली एक पिकअप गाड़ी भी पकड़ी है।

इस मामले में अलवर शहर विधायक बनवारी लाल सिंघल ने कहा कि पूरा क्षेत्र संवेदनशील है. यहां सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए. इस मामले में सोमवार को वन एवं पर्यावरण मंत्री संजय शर्मा भी मौके पर पहुंचे. उन्होंने कहा कि अवैध रूप से सिवायचक जमीनों पर कब्जा कर रहने वालों द्वारा बिजली के कनेक्शन तक ले रखे थे जिन्हें काटा जाएगा और जो भी दोषी है उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होगी.